1. भाषा :

हिंदु पंचाग आणि पंचांगम

पंचांग का वैदिक ज्योतिष में बड़ा महत्व होता है। हिन्दू धर्म में पंचांग के बिना किसी भी पर्व, त्यौहार, उत्सव और कार्य का शुभारंभ करना असंभव माना जाता है। क्योंकि पंचांग की मदद से ही तिथि और मुहूर्त की गणना होती है। पंचांग के 5 अंग; वार, तिथि, नक्षत्र, योग और करण की गणना के आधार पर मुहूर्त निकाला जाता है। इस पृष्ठ पर आप पाएंगे दैनिक और मासिक समेत अलग-अलग राज्यों में प्रचलित पंचांग में वार, तिथि, नक्षत्र, योग, करण और सूर्योदय-सूर्यास्त व चंद्रोदय-चंद्रास्त से संबंधित जानकारी। इसके अतिरिक्त पंचांग के कॉलम में आपको मिलेगी शुभ व अशुभ मुहूर्त से संबंधित सूचना। इसके अलावा आप घर बैठे ऑनलाइन सॉफ्टवेयर की मदद से अपने शहर का पंचांग देख सकते हैं। पंचांग से जुड़ी इस ऑनलाइन सेवा की मदद से आप तिथि, त्यौहार और मुहूर्त के बारे में जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

अॅस्ट्रोसेज मोबाइल वरती सर्व मोबाईल ऍप

अॅस्ट्रोसेज टीव्ही सदस्यता घ्या

रत्न विकत घ्या

AstroSage.com वर आश्वासनासह सर्वोत्कृष्ट रत्न

यंत्र विकत घ्या

AstroSage.com वर आश्वासनासह यंत्राचा लाभ घ्या

नऊ ग्रह विकत घ्या

ग्रहांना शांत करण्यासाठी आणि आनंदी आयुष्य मिळवण्यासाठी यंत्र AstroSage.com वर मिळावा

रुद्राक्ष विकत घ्या

AstroSage.com वर आश्वासनासह सर्वोत्कृष्ट रुद्राक्ष