1. भाषा :

व्रत और उपवास तारीखें

व्रत और उपवास तारीखें

हिन्दू धर्म में व्रत और उपवास का विशेष महत्व है। हिन्दू धर्म के अनुसार हर माह पड़ने वाली विभिन्न तिथियां भगवान विष्णु, शिव, मॉं दुर्गा और गणेश जी समेत कई देवताओं को समर्पित होती है, इसलिए इन तिथियों पर व्रत और उपवास का महत्व और भी बढ़ जाता है। इस पृष्ठ पर आपको मिलेगी इस वर्ष में पड़ने वाले विभिन्न तिथि, व्रत और उपवास की जानकारी।हिन्दू धर्म में हर महीने एकादशी, अमावस्या, पूर्णिमा, संकष्टी चतुर्थी और प्रदोष व्रत रखे जाते हैं। इनमें अमावस्या व्रत व पूजन का धार्मिक कार्य और पूर्वजों की शांति के लिए विशेष महत्व है। प्रदोष व्रत के देवता भगवान शिव माने गए हैं और उनके साथ माता पार्वती की पूजा की जाती है। पूर्णिमा तिथि चंद्रमा को सबसे प्यारी होती है। पूर्णिमा के दिन ही चंद्रमा पूर्ण आकार में होता है। इस मौके पर दान, धर्म और व्रत का विशेष महत्व है। वैशाख, कार्तिक और माघ माह की पूर्णिमा को तीर्थ दर्शन, स्नान और दान-पुण्य के लिए शुभ माना गया है। हिंदू धर्म में एकादशी व्रत की बड़ी महिमा है। एक ही दशा में रहते हुए अपने आराध्य देव का पूजन व वंदन करने की प्रेरणा देने वाला व्रत ही एकादशी व्रत कहलाता है। सभी व्रतों में एकादशी का व्रत सबसे प्राचीन माना जाता है। जानें इस साल पड़ने वाले व्रत और उपवास की तिथि के बारे में…

एस्ट्रोसेज मोबाइल पर सभी मोबाइल ऍप्स

एस्ट्रोसेज टीवी सब्सक्राइब

रत्न खरीदें

एस्ट्रोसेज डॉट कॉम सर्वश्रेष्ठ गुणवत्ता वाले रत्न, लैब सर्टिफिकेट के साथ बेचता है।

यन्त्र खरीदें

एस्ट्रोसेज डॉट कॉम के विश्वास के साथ यंत्र का लाभ उठाएँ।

नवग्रह यन्त्र खरीदें

ग्रहों को शांत और सुखी जीवन प्राप्त करने के लिए नवग्रह यन्त्र एस्ट्रोसेज लें।

रूद्राक्ष खरीदें

एस्ट्रोसेज डॉट कॉम से सर्वश्रेष्ठ गुणवत्ता वाले रुद्राक्ष, लैब सर्टिफिकेट के साथ प्राप्त करें।